​प्रधानाचार्य संदेश ......... 

                   

                   संस्थान से जुड़े प्रत्येक व्यक्ति का लक्ष्य आई.टी .आई की गरिमा को बढ़ाना है ,जिसकी संभवाना केवल उच्च स्तर की गुणवत्ता युक्त प्रशिक्षण व्यवस्था से ही है I प्रबंधन समिति के साथ मिलकर मेरा कर्तव्य प्रशिक्षुओं के सुनहरे भविष्य   को लेकर  प्रतिबद्धता है 

                वर्तमान समय  में बेरोजगारी की  समस्या तो है  ही साथ ही युवाओं  में कुशलता की भी कमी है और कुशलता की  प्राप्ति  नियमित एवं ईमानदारी  से लिए गए प्रशिक्षण से  ही सम्भव है I देवरिया निजी आई. टी. आई. स्थापना वर्ष से

     

ही नियमित और ईमानदारी से प्रशिक्षण देने के लिए प्रतिबद्ध रहा है I मैं इस संस्थान से  पिछले 03 वर्षों से जुड़ा हूँ और प्रत्येक दिन खुद को गौरवान्वित महसूस करता हूँ कि मुझे पिछड़े एवं शिक्षा की दयनीय स्थिति से प्रभावित छात्रों के भविष्य की  चिंता का सौभाग्य प्राप्त हुआ है I मेरे शरीर का एक-एक कण देवरिया निजी आई.टी.आई. के प्रशिक्षुओं  के भविष्य के नाम अर्पित है ​I 

​ पवन कुशवाहा